University क्या है,what is university?

University क्या है,what is university?

यूनिवर्सिटी क्या है?what is University?

विश्वविद्यालय एक शैक्षणिक स्थान है जो वैश्विक ज्ञान, समझ, पहुंच, सोच दृष्टिकोण से उच्च शिक्षा प्रदान करने का कार्य करते हैं।

भारत में विश्वविद्यालय का इतिहास बहुत पुराना है नालंदा विश्वविद्यालय, तक्षशिला विश्वविद्यालय कहा गया क्योंकि यहां विश्व के सभी जगहों से लोग यहां शिक्षा ग्रहण करने आते थे जैसे-जैसे शिक्षा का दायरा बढ़ता जाता है उससे जुड़े संस्थान भी समृद्ध होते जाते हैं और इस परिपक्वता को दर्शाने वाले विश्वविद्यालय कहलाते हैं ।

विश्वविद्यालय का इतिहास ( history of University)

विश्व का सबसे पुराना विश्वविद्यालय तक्षशिला विश्वविद्यालय माना को माना जाता है इसे विश्व का प्रथम University भी माना जाता है ,इसे लगभग 700 ईसा पूर्व (2700 वर्ष पूर्व) में स्थापित किया गया था ।

 तक्षशिला विश्वविद्यालय में पूरे विश्व के 10,000 से अधिक भी अधिक छात्र अध्ययन करते यहां आया करते थे।

यहां 60 से भी अधिक विषयों को पढ़ाया जाता था और इस समय के अन्य विश्वविद्यालय में नालंदा विश्वविद्यालय ,, विक्रमशिला विश्वविद्यालय वैश्विक ज्ञान के लिए प्रसिद्ध थे।

मध्यकाल में प्राचीन विश्वविद्यालय का महत्व घटता गया क्योंकि कुछ विश्वविद्यालय धार्मिक कार्यों से नष्ट हुए राजाओं ने अनुदान देना बंद कर दिया ।

आधुनिक काल में विश्वविद्यालय की स्थापना का श्रेय ब्रिटिशर्स को दिया जाता है 1835 में मैकाले ने उच्च शिक्षा अंग्रेजी की बात की गई।

 1854 में वुड डिस्पैच इसमें विश्वविद्यालय बनाने की बात की गई ।

 1857में बम्बई ,कोलकाता, मद्रास में विश्वविद्यालय बनाया गया।( विश्वविद्यालय अधिनियम से ) अगले 90 वर्षों में देश के अलग-अलग भागों में अनेकों विश्वविद्यालय बनाए गए।

 1925 में इन विश्वविद्यालयों के नियमन के लिए इंटर यूनिवर्सिटी बोर्ड बनाया गया और यही आगे चलकर यूजीसी UGC बना यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमिशन ।

1948 में राधा कृष्ण समिति बनाई गई इसे विश्वविद्यालय के मार्गदर्शन सिद्धांत जारी करना था और इसी समिति की सिफारिश पर भारत में यूजीसी को लाया गया।

भारत में विश्वविद्यालय अलग-अलग रूप में आए।

प्रशासनिक के आधार पर के आधार पर

केंद्रीय विश्वविद्यालय  

 राज्य विश्वविद्यालय

 प्रकृति के आधार पर

संघात्मक 

एकात्मक

सम्यक 

 स्वामित्व के आधार पर

निजी विश्वविद्यालय 

सरकारी विश्वविद्यालय 

प्रकृति के आधार पर

मानक विश्वविद्यालय 

मुक्त विश्वविद्यालय 

महिला विश्वविद्यालय 

मुस्लिम विश्वविद्यालय 

Central University( केंद्रीय विश्वविद्यालय)

यह संसद की अधिनियम से बनती है इसकी स्वायत्तता का अधिकार केंद्र द्वारा तय होता है, केंद्रों की निगरानी में ।

केंद्रीय विश्वविद्यालय अधिक स्वायत्त दिखते हैं ।

केंद्रीय विश्वविद्यालय की संख्या कम होती है सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों को केंद्र द्वारा यूजीसी द्वारा अनुदान मिलता है ।

देश में 20 केंद्रीय विश्वविद्यालय हैं इनमें से दो university को केंद्र अनुदान नहीं देती- इंफाल और इग्नू (IGNU)

इनका मानक प्रमुख राष्ट्रपति होता है।

 यह सामान्यतः एकात्मक होते हैं।

State University (राज्य विश्वविद्यालय)

 राज्य सरकार द्वारा बनाई जाती है यह राज्य की निगरानी से नियंत्रित होता है।

 यह अपेक्षाकृत कम स्वायत होते हैं अधिकतर कॉलेज से राज्य विश्वविद्यालय से संबंध होते हैं।

 यूजीसी (UGC)एक्ट धारा 12 B के अनुसार 1972 के बाद स्थापित राज्य विश्वविद्यालयो को, उनको केंद्र व UGC कोई अनुदान नहीं देती ।

 राज्यों के स्तर पर 215 university हैं जिनमें से तीन को विशिष्ट विश्वविद्यालय कहा गया , बम्बई, मद्रास ,कोलकाता, 1972 के पहले 113 विश्वविद्यालय थे। इनको यूजीसी UGC अनुदान देती है व बचे हुए विश्वविद्यालय को राज्य अनुदान देती हैं इनके मानक प्रमुख राज्यपाल होते हैं ।

यह सामान्यत: संघात्मक होते हैं।

संघात्मक विश्वविद्यालय

 ये वे हैं जो एक निर्धारित क्षेत्र में शिक्षा प्रदान कर रहे हैं व वहां स्थित कॉलेजों को मान्यता प्रदान कर रहे हैं

एकात्मक विश्वविद्यालय

 जो जहां स्थित होते हैं वहीं शिक्षा देते हैं लेकिन यह महाविद्यालयों को मान्यता नहीं देते ना ही उनके पाठ्यक्रम शिक्षा को नियंत्रित करते हैं ।

सम्यक विश्वविद्यालय 

जो एक बड़े क्षेत्रों से कॉलेजों रहते हैं जिनका दायरा सीमित नहीं होता जिनके कोर्स इस पूरे देश में होते हैं।

 Government university (सरकारी  विश्वविद्यालय )

यह वे विश्वविद्यालय है जहां हर विश्वविद्यालय के लिए अलग से कानून बनाया जाता है

 सरकार द्वारा इन्वेस्टमेंट किया जाता है

 सरकार द्वारा वित्त पोषित किया जाता है।

 निगरानी व नियंत्रण सरकारी संस्था द्वारा किया जाता है

 यहां शिक्षा प्राप्त करने की सार्वभौमिकता होती है

यहां शिक्षा सस्ती व सबसीडी के साथ मिलती है।

 Private University (निजी विश्वविद्यालय)

निजी विश्वविद्यालय का दर्जा देने के लिए राज्य सरकार कानून बनाते हैं और फिर से

कानून के तहत पंजीयन करवाना होता है।

 निजी विश्वविद्यालय सोसाइटी संस्था के तौर पर पंजीकृत संस्था होती है।

 यह निजी वित्त पोषित होते हैं ।

यह यूजीसी नियमों का पालन करती है लेकिन बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स द्वारा संचालित होती है ।

मानक यूनिवर्सिटी,(deemed universirty)

डीम्ड का अर्थ है जिन्हें दर्जा दिया गया (विशेष दर्जा) ये वे उच्च शिक्षा संस्थान है जो विश्वविद्यालय नहीं है लेकिन इन्हें विश्वविद्यालय का दर्जा दिया गया है ।

यह दर्जा यूजीसी UGC देता है (सरकार के सलाह पर) के यूजीसी )के धारा 3 में यह प्रावधान है कि उच्च प्रदर्शन करने वाले शिक्षण संस्थान को यह दर्जा दिया जाए।

यह दर्जा मिलने के बाद इन शैक्षणिक संस्थाओ को प्रशासनिक स्वायत दी जाती है।

प्रशासनिक स्वायत का अर्थ है वे स्वयं तय कर करेंगे- परीक्षा, पाठ्यक्रम, फीस, छात्रवृत्ति,तय करेंगे।

Example

आईआईएससी बैंगलोर 1958 में पहला डिम्ड University बना।

Indira ghandhi center for atomic research

भाभा परमाणु अनुसंधान 

जैसे लगभग 100 संस्थानो को डिम्ड University का दर्जा दिया गया है

मुक्त विश्वविद्यालय(open University)

जैसे कि नाम से स्पष्ट है मुक्त यानी खुला यह उच्च शिक्षा के सर्वभौमिकरण से जुड़ी संस्था है उच्च शिक्षा सबको मिले यह इसका लक्ष्य है। भारत में शिक्षा बंधी हुई लगती है उसको खोलना उन्मुक्त कर देना है यही इसका लक्ष्य है ।

मुक्त विश्वविद्यालय किसी स्थान आबध नहीं है, यह वह शिक्षा है जो घर तक मिलती है यहां शिक्षा समयबद्ध नहीं है यहां शिक्षा उम्र की सीमा नहीं देखती से कोई भी ग्रहण कर सकता है, यह एक दूरस्थ शिक्षा है जो किसी भी व्यक्ति को आसानी से शिक्षा प्रदान कर सकता है। यह ऑनलाइन शिक्षा से जुड़ी है एक सेल्फ लर्निंग शिक्षा है ,शिक्षा किसी नियम कानून या योग्यता से बंधी ना रहे किसी भौगोलिक दायरे तक सीमित ना रहे किसी वर्ग या आयु वर्ग तक सीमट कर न रह जाए या कहीं भी किसी को भी मिले यही मुफ्त शिक्षा है।

मुक्त विश्वविद्यालय की आवश्यकता ।

भारत में उच्च शिक्षा के अंतर्गत संसाधनों में कमी होती है उस शिक्षा के अंतर्गत अधिक निवेश की आवश्यकता है लेकिन निवेश प्राथमिक व माध्यमिक शिक्षा में समाप्त हो जाते हैं ऐसे में विश्वविद्यालय की आवश्यकता थी कि कम व्यय में अधिक शिक्षा फैला सके इसी उद्देश्य से मुक्त शिक्षा को लाया गया।

 यह विश्वविद्यालय सरकारी और निजी संचार तंत्र के माध्यम से दूरदर्शन आकाशवाणी सीडी डीवीडी शिक्षा प्रदान करते हैं। इसमें वे लोग शिक्षा ग्रहण कर सकते हैं, जैसे जिनकी शिक्षा की उम्र जा चुकी है , जो कामकाजी महिलाएं है , व्यवसायिक कार्य करने वाले लोग, इन सभी के शिक्षा के लिए मुक्त विश्वविद्यालय बनाया गया है।

पहली मुक्त विश्वविद्यालय लंदन में 1969 में बना।

 भारत में पहला मुक्त विद्यालय देश का सबसे बड़ा खुला विश्वविद्यालय इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय है, जिसमें 100000 से अधिक विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण करते हैं।

वर्तमान में देश में 14 मुक्त विश्वविद्यालय काम कर रही हैं ,छत्तीसगढ़ में सुंदरलाल शर्मा मुक्त विश्वविद्यालय इसका कार्य करता है।

Top 10 University in India 

भारत के टॉप 10 विश्वविद्यालय 

‌1.Indian Institute of Science Bengaluru Karnataka 

‌2.Jawaharlal Nehru University New Delhi Delhi

‌3.Jamia Millia Islamia, New Delhi New Delhi  

4‌.Jadavpur University Kolkata West Bengal 

‌ 5.Amrita Vishwa Vidyapeetham Coimbatore Tamil Nadu 

‌ 6.Banaras Hindu University Varanasi Uttar Pradesh 

‌7.Manipal Academy of Higher Education, Manipal Manipal Karnataka 

‌8.Calcutta University Kolkata West Bengal 

‌9.Vellore Institute of Technology Vellore Tamil Nadu 

‌10.University of Hyderabad Hyderabad Telangana 

उम्मीद करते है university से रिलेटेड यह आर्टिकल आप लोगो को पसंद आया होगा , अगर अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ share जरूर कीजिए ताकि उन तक भी यह जानकारी पहुंच सके।और अपनी राय comment करके जरूर बताए।

Thank you….

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *